CBSE Class 10 Hindi Grammar | CBSE - 2022 | हिन्दी व्याकरण Notes and MCQs

CBSE Class 10 Hindi Grammar Lessons

( हिन्दी व्याकरण कक्षा 10 बोर्ड परीक्षा 2021 -22 )



Hindi Grammar Lessons for Hindi 'A' and Hindi 'B'

Class 10 Hindi Grammar portion for the 2021-22  Board Exam. There will be 16 MCQ questions from these chapters. Hindi Vyakaran Class 10 MCQ according to the new syllabus of CBSE. हिन्दी व्याकरण Class 10 MCQ 2021. Below we are providing you with some important links for Class 10 Hindi Grammar Notes and MCQ. CBSE class 10 Hindi Grammar MCQ questions with tricks. यहाँ हम कक्षा 10 हिंदी व्याकरण के सम्पूर्ण नोट्स अवं बहुविकल्पीय प्रश्नो को नए सिलेबस के आधार पर पढ़ेंगे।


Hindi Grammar Lessons for Hindi 'A'

1) रचना के आधार पर वाक्य भेद - Notes 

2) वाच्य - Notes 

3)पद परिचय - 
Notes 


Hindi Grammar Lessons for Hindi ' B '

1) रचना के आधार पर वाक्य रूपांतर - Notes
  • रचना के आधार पर वाक्य रूपांतर - MCQ

2) समास - 
Notes

3) मुहावरे - Notes
4) पद बंध - Notes


Class 10 Hindi Grammar Syllabus 2021-22

कक्षा 10 बोर्ड परीक्षा 2022 में हिंदी व्याकरण से कुल 16 मार्क्स के प्रश्न पूछे जाएंगे। पहले यह सारे प्रश्न सब्जेक्टिव हुआ करते थे यानी कि इन सारे प्रश्नों में आप सभी को उत्तर लिखने होते थे पिछले वर्ष से सिलेबस में कुछ बदलाव किए गए हैं। अब यह सारे प्रश्न MCQ के तौर पर पूछे जाते हैं। इन सारे प्रश्नों में आपको चार विकल्प दिए जाएंगे। चारों में से जो भी विकल्प सही होगा उस विकल्प को आपको लिखना होगा। हम यह कह सकते हैं की कक्षा 10 के हिंदी व्याकरण में जो बदलाव हुए हैं, वह आप लोगों के लिए एक अच्छा बदलाव के रूप में आया है। आप लोगों को प्रश्नों में चार विकल्प दिए जाते हैं इसमें अब आपके लिए आसानी हो जाती है कि जो भी विकल्प सही है उस विकल्प को आप चुन सकें। हिंदी कोर्स ए और हिंदी कोर्स बी दोनों के लिए व्याकरण मैं अलग-अलग विषय को पढ़ना है सबसे पहले जानते हैं हिंदी कोर्स ए में कौन कौन से टॉपिक को पढ़ना है इन सारी टॉपिक को पढ़ने में किन बातों को ध्यान रखना है जिससे आप की तैयारी और भी अच्छे से और आसानी से हो सके।


CBSE Class 10 Hindi Grammar Syllabus Course A

CBSE Class 10 Hindi Grammar Syllabus Course A


क्लास 10 हिंदी व्याकरण कोर्स ए में कुल 4 टॉपिक को पढ़ना है

1. रचना के आधार पर वाक्य के भेद

रचना के आधार पर वाक्य की कुल 3 भेद होते हैं, सरल, संयुक्त और मिश्र वाक्य। यह टॉपिक बहुत ही आसान है। अगर आप ध्यान से इसके सारे कंसेप्ट को समझ लेते हैं तो आप बहुत ही आसानी से इसके सारे प्रश्नों को हल कर सकते हैं।

A) सरल वाक्य का मतलब होता है साधारण वाक्य यानी कि एक ऐसा वाक्य जिसमे कर्ता भी एक होता है और काम भी एक होता है। यानी कि आप किसी भी बात को अगर एक वाक्य में लिख देते हैं तो उसे हम सरल वाक्य कह सकते हैं। उदाहरण के तौर पर, राकेश बाजार से आम लेकर के आया। यहां करता राकेश है और काम बाजार से आम लाना है। जब आप अपनी बातों को एक ही वाक्य में लिखते हैं उसे हम सरल वाक्य कहते हैं। इसी वाक्य को हम संयुक्त और मिश्र वाक्य में भी बदल सकते हैं।

B) संयुक्त वाक्य में दो उपवाक्य होते है। दो वाक्य योजक चिन्हो से जोड़ा जाता है। जैसे- और, क्योंकि, परंतु, पर। पिछले वाक्य को ही अब हम संयुक्त वाक्य में बदल कर के देखेंगे। हम उसे संयुक्त वाक्य में लिख सकते है - राकेश बाजार गया और आम लेकर के आया। यहां दोनों ही वाक्यों का मतलब एक ही है पर लिखने का तरीका अलग होने से सरल और संयुक्त में बदल जाता है।

C) मिश्र वाक्य में भी दो वाक्य को जोड़ा जाता है लेकिन इसमें एक प्रधान वाक्य होता है और दूसरा गौण वाक्य होता है। अब उसी वाक्य को अब हम मिश्र वाक्य में लिख कर देखेंगे। जब राकेश बाजार गया तब आम लेकर के आया , यहां हमने देखा कि तीनों ही वाक्य का मतलब एक ही है लेकिन लिखने का तरीका अलग होने की वजह से सरल संयुक्त और मिश्र में बदल जाता है।

इस प्रकार से आप रचना के आधार पर वाक्य के भेद को बहुत ही आसानी से हल कर सकते हैं। सबसे पहली रचना के आधार पर वाक्य के भेद के नोट्स को अच्छे से पढ़ लीजिए। उसके बाद एमसीक्यू जो दिए गए हैं उन सारे एमसीक्यू को अच्छे से हल कर लीजिए। इतना करने के बाद आपका बोर्ड परीक्षा में 4 मार्क्स अभी से ही सुनिश्चित हो जाएगा।


2. वाच्य

वाक्य के तीन भेद होते हैं कर्तृ, कर्म और भाव वाच्य। वाक्य में कर्ता कर्म और भाव तीनों में से किस की प्रधानता है इसे ही हम वाच्य कहते हैं। यह टॉपिक भी बहुत आसान है। ध्यान से इसके कॉन्सेप्ट्स को सिखने के बाद आसानी से सरे प्रश्नो को हल कर सकते है।

A) कर्तृवाच्य में करता की प्रधानता होती है यानी काम को करने वाला की । इसमें क्रिया कर्ता के अनुसार बदलती हैं जैसे राहुल ने नमन को डंडे से मारा। यहाँ राहुल कर्ता है और मारना क्रिया। कर्ता के अनुसार क्रिया का लिंग, वचन बदल रहा है इसीलिए यहाँ कर्तृ वाच्य होगा।

B)कर्मवाच्य में कर्म की प्रधानता होती हैं इसमें क्रिया कर्म के अनुसार बदलती हैं। जैसे राधिका ने दूध पिया ,यहां राधिका स्त्रीलिंग है लेकिन पीना क्रिया कर्म पर यानी कि दूध पर निर्भर कर रही है।

C) भाव वाच्य में कर्ता और कर्म को छोड़कर भाव की प्रधानता होती है। जैसे मुझ से चला नहीं जाता। यहां पर भाव की प्रधानता है। इसको पता करने के लिए हम कुछ आसान तरीके को इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे- मुझ से चला नहीं जाता खाया नहीं जाता पिया नहीं जाता इस तरह के शब्द आएंगे तो यह भाववाचक कहलाता है।


3. पद परिचय

तीसरा टॉपिक है पद परिचय जिस प्रकार से हम अपना परिचय देते हैं। अपना नाम पता और अपनी उम्र के साथ सारी जानकारियां देते हैं। उसी प्रकार से पदों का भी अपना परिचय होता है। 

पद क्या होता है?
जब शब्द को वाक्य में प्रयोग किया जाता है तो उसे हम पद कहते हैं। वाक्य में प्रयोग होने के बाद हर शब्द व्याकरण के नियमों से बंध जाते हैं। और अब उनका अपना एक परिचय होता है। किसी भी पद का परिचय देने के लिए हमें कुछ अहम बातों का ध्यान रखना होता है।

पद परिचय कैसे दे?
जैसे सबसे पहले तो बताना होगा कि वह संज्ञा सर्वनाम विशेषण क्रिया क्रिया विशेषण इन सारे टॉपिक में से किस के अंदर वह आता है। फिर फिर उसके भेद को बताना होगा और इसी के साथ में लिंग वचन कारक जैसे सारी जानकारियों को आपको बताना होता है। पद परिचय बताने के लिए आपको व्याकरण की अच्छी जानकारी होनी चाहिए। इसमें लगभग व्याकरण के सारे टॉपिक्स को सम्मिलित किया जाता है। इस वेबसाइट में आपको कुछ ऐसे तरीके मिलेंगे जिससे कि आप पद परिचय बहुत ही आसानी से कर सकती है। इसी के साथ में हमने कुछ एमसीक्यू के क्वेश्चंस भी दिए हैं। जिससे कि पद परिचय जब आप सीख लेंगे तो आप कुछ अच्छे से प्रैक्टिस कर सकती है।


4. रस
रस क्या होता है? जब आप किसी भी काव्य को पढ़ते हैं सुनते हैं उस समय जो आपको आनंद की अनुभूति होती है उसी आनंद को उसी फिलिंग्स को रस कहते हैं। जैसे- जब आप किसी हंसने वाली कविता को सुनते हैं या पढ़ते हैं उस समय आपको हंसी आती है। उसे हम हास्य रस कहते हैं। अगर आप किसी कविता को पढ़ रहे हैं। जिसमें आप को क्रोध आ रहा है, तो उसी अनुसार से आप का रस भी बदल जाता है। रस के साथ में उसका स्थाई भाव भी छुपा होता है। काव्य को पढ़ते या सुनते समय जो आपके अंदर भाव आया उसी भाव के अनुसार अलग-अलग रसों में इसे बांटा गया है। यह टॉपिक बहुत ही आसान है। इसे अगर आप बहुत ही अच्छे से पढ़ लेते हैं एक बार तो आप बहुत ही आसानी से इसमें 4 मार्क्स स्कोर कर सकते हैं।



CBSE Class 10 Hindi Grammar Syllabus Course B




1. रचना के आधार पर वाक्य रूपांतरण

हिंदी कोर्स बी में पहला टॉपिक है रचना के आधार पर वाक्य रूपांतरण। रचना के आधार पर वाक्य के तीन भेद होते हैं आप एक ही वाक्य को तीनों भेदो में लिख सकते हैं। एक ही वाक्य को आप सरल संयुक्त और मिश्र वाक्य में लिख सकते हैं। इस प्रश्न में आपको एक वाक्य दिया जाएगा और उसे सरल, संयुक्त और मिश्र इन तीनों में से किसी एक में बदलने को कहा जाता है। एक भेद से दूसरी भेद में बदलना बहुत ही आसान काम है। एक उदाहरण के तौर पर हम इसे समझते हैं।

1) सरल वाक्य में- बारिश होते ही मैं बाजार गया। यह सरल वाक्य है अगर आपको इसे संयुक्त वाक्य में बदलना है तो उसमें इसी वाक्य को दो भागों में बदलना होगा और दोनों भागों को योजक चिन्हो से जोड़ना होता है।

2) संयुक्त वाक्य में - जैसे बारिश हुई और मैं बाजार गया। यह पिछली वाक्य को ही दो तरीकों से लिखा गया जैसे बारिश हुई और बाजार गया। यह दो वाक्यों में इसे बांट दिया गया।

3) मिश्र वाक्य में- अब इसी वाक्य को हम मिश्र वाक्य में भी बदल सकते हैं। इसे हम लिख सकती है जैसे ही बारिश हुई वैसे ही मैं बाजार गया। आप देख सकते हैं कि एक ही वाक्य को हमने सरल संयुक्त और मिश्र तीनों वाक्यों में बदल लिया।

उसी प्रकार से मिश्र वाक्य से सरल वाक्य संयुक्त से आप सरल वाक्य किसी में भी आप आपस में बदल सकती हैं। इसके लिए आपको इसके कुछ नियमों को जानना होगा और उसके बाद आप आसानी से इसे कर सकते हैं। इस वेबसाइट में मैं आपको कुछ एमसीक्यू के प्रश्न भी दे देता हूं जिससे कि आप आसानी से प्रैक्टिस कर के सीख सकते हैं।


2. समास

हिंदी कोर्स बी के लिए ग्रामर में दूसरा टॉपिक है समास संक्षेप करने की एक प्रक्रिया है। संक्षेप यानी कि छोटा जब दो शब्दों को जोड़ करके एक नया शब्द बनाया जाता है। जिसका अर्थ बिल्कुल ही अलग होता है। उसे हम समाज कहते हैं समाज के कुल 6 भेद होते हैं। समास पढ़ने के लिए आपको सबसे पहले इसमें कुछ नियमों को जानना होता है। उसके बाद आप समाज से संबंधित प्रश्नों को हल करिए जितना ज्यादा प्रश्नों को हल करेंगे उतना आपको समास का जानकारी होगी। आप अलग-अलग शब्दों से अवगत होंगे सारे शब्दों के बीच जो समास के भेद है उन सभी चीजों को आप आसानी से समझ सकते हैं। ऊपर एक लिंक दिया गया है जिसमें कुछ इंपॉर्टेंट समाज के प्रश्नों को लिखा गया है। इसे सॉल्व करने के बाद समाज से संबंधित बेसिक जानकारियां आपको हो जाएगी और आप अन्य प्रश्नों को भी आसानी से कर सकते हैं।


3. मुहावरे

मुहावरे बातो को कहने के नए अंदाज होते है। मुहावरे व्याकरण के नियमो में नहीं बंधे होते है। हर मुहावरे का अपना अलग अर्थ होता है। कुछ महत्वपूर्ण मुहावरों को कक्षा 10 में पढ़ना है। देखा जाये तो मुहावरों की संख्या बहुत ज्यादा है। इसीलिए सरे मुहावरों को याद कर पाना थोड़ा मुश्किल काम है। हम कुछ ऐसे मुहावरे जो बोर्ड परीक्षाओ में पूछे जा चुके है उन सभी को इस वेबसाइट में लाने की कोसिस करूंगा। इस टॉपिक से भी बोर्ड परीक्षा में MCQ प्रश्न रहेंगे। जिस विकल्प में आप स्पष्ट हो जाये उसी को उत्तर लिखियेगा।


4. पद बंध

कक्षा 10 हिन्दी कोर्स 'अ' में चौथा टॉपिक पद बंध है। इस बहुत ही आसान टॉपिक है। ऊपर दिए गए लिंक में आपको 25 MCQ के प्रश्न मिलेंगे। सारे प्रश्न बहुत ही महत्वपूर्ण है। सभी के साथ ट्रिक्स को किया गया है ताकि की आसानी से याद हो सके। सरे प्रश्नो को अच्छे से बना लीजिये। आपका इस टॉपिक तैयार हो जायेगा। आप आसानी से फुल मार्क्स ला सकते है इसमें।



हिंदी व्याकरण आसान शब्दों में सिखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल
Platinum Classes को Subscribe करे.



On our website Crack My CBSE we are trying to provide you content in a very simpler way. The above-given study materials of Hindi Grammar Class 10 is prepared in such a way that students can understand Hindi grammar very easily. I hope all the topics are clear now.

If you have any suggestions feel free to comment on us.

Post a Comment

2 Comments